in

हरियाली तीज के दौरान महिलाओं को सौंदर्य टिप्स – सौंदर्य Beauty Tips 24 July 2019

Beauty Tips By शहनाज हुसैन Shahnaz Husain

गर्मियों के मौसम के बाद महिलाएं वर्षा ऋतु का तीज उत्सव मनाकर स्वागत करती हैं। हरियाली तीज उत्तर भारत की महिलाओं का धार्मिक त्यौहार ही नहीं बल्कि प्राकृतिक उत्सव मानाने का खास दिन माना जाता है जब महिलाएं दुल्हन की तरह सजती और संवरती हैं।
तीज मेहंदी, लहरिया, झूले, चूडिय़ों और श्रृंगार का पावन पर्व माना जाता है। बरसात के मौसम में धरती मां द्वारा औड़ी गई हरियाली की चादर में मनाये जाने वाले इस त्यौहार में सुहागिन महिलायें हाथों पर हरी मेहंदी लगाकर प्रकृति से जुडऩे की अनुभूति करती है। तीज में सहेलियां सामूहिक रूप से झूला झूलती हैं तथा इसमें गीत संगीत, तीज मिलन, सामूहिक भोज और मिष्ठानों का आदान-प्रदान सामाजिक समरसता को सुदृढ़ बनाता है। इस दिन विवाहित हिन्दू महिलाएं अपने सुहाग की लम्बी उम्र के लिए एक दिन निर्जला व्रत रखती हैं जबकि कुंवारी कन्याएं मनचाहे वर की प्राप्ति के लिए दिनभर व्रत रखती हैं।
सावन की फुहारों में मनाये जाने वाले इस पवित्र पर्व पर महिलायें प्रेम की फुहारों से अपने परिवार की खुशहाली तथा वंश वृद्धि की कामना करती हैं। यह त्यौहार राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, पंजाब, हिमाचल प्रदेश सहित उत्तरी राज्यों में काफी धूम-धाम से मनाया जाया जाता है। हरियाली तीज में महिलायें व्रत रखती हैं तथा झूला झूलती हैं। हर साल सावन के महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीय तिथि को मनाये जाने वाले इस उत्सव को श्रावणी तीज या कजरी तीज भी कहते हैं।
इस त्यौहार में विवाहित महिलाऐं भगवान शिव और मां पार्वती की आराधना और उपवास रखकर अपने पति के चिरआयू तथा समृद्धि की कामना करती है। इस त्यौहार में महिलाएं मेंहदी, चूडिय़ां, बिंदी तथा सुन्दर परिधानों से सुसज्जित होती है तथा सौंदर्य इस त्यौहार का मार्मन्त अंग है। हालांकि महिलाओं की ख्वाहिश हमेशा से सुन्दर दिखने की रहती है, लेकिन हरे रंग की चादर ओढे प्राकृतिक वातावरण में मेकअप के दौरान कुछ उपायों को अपना कर आप न केवल सुन्दर बल्कि सबसे अलग भी दिख सकती हैं।
इस त्यौहार में कुछ प्राकृतिक आर्युवेदिक प्रसाधनों का प्रयोग करने से आपके सौंदर्य को चार चांद लग सकते है। प्राचीन समय में शारीरिक सौंदर्य के लिए घरेलू उबटन का प्रयोग किया जाता था। उबटन मुख्यत: चोकर, बेसन, दही, मलाई तथा हल्दी के मिश्रण से बनाया जाता था। इन सबको पीसकर मिश्रण को नहाने से पहले शरीर पर लगाया जाता था। इसे नहाने के समय ताजे पानी से धोया जाता था जिससे शरीर की मृतक कोशिकाऐं हटाने में मदद मिलती थी जिससे शारीरिक त्वचा कोमल तथा मुलायम बन जाती है। तीज के त्यौहार में बालों की सुन्दरता के लिए शुद्ध नारियल तेेल को गर्म करके इसे बालों तथा सिर की खाल पर लगा लीजिए इसके बाद एक तौलिए को गर्म पानी में डुबोकर गर्म पानी को निचोड़ दीजिए तथा उस तोलियें को पगड़ी की तरह 5 मिनट तक सिर पर लपेट लीजिए। इस प्रक्रिया को 3-4 बार दोहराइए। इस प्रक्रिया से बालों तथा सिर की खाल को तेल को थामें रखने में मदद मिलती है। इस तरह तेल को एक घंटा तक बालों में लगाने के बाद बालों को साफ पानी से धो डालिए। निर्जीव तथा थकी आंखों के लिए काटनवुल पैड को गुलाब जल में भीगो दीजिए तथा इसे आंखें बंद करके आई पैड की तरह प्रयोग करके 10 मिनट तक नीचे लेटकर आराम कीजिए। इससे आंखों की थकान मिटती है तथा आंखों में प्राकृतिक चमक आ जाती है। गुलाब की सुगन्ध का मस्तिक पर शन्तिवर्धक प्रभाव पड़ता है।
मेकअप
तीज में महिलाएं दुल्हन की तरह सजती, संवरती हैं इस त्यौहार में महिलाएं मेहन्दी पारम्पारिक पहनावें, गहने तथा सौन्दर्य प्रसाधनों का उपयोग करती है। तीज जैसे त्यौहारों को चकाचौंध रोशनी में मनाया जाता है तथा इसके सौन्दर्य के लिए आपको चमकीले रंगों की जरूरत होती है अन्यथा आप कांतिहीन दिखेंगी।
सबसे पहले त्वचा को साफ करके इस पर तरल मॉइस्वराइजर लगाइए। तैलीय त्वचा के लिए अस्ट्रिन्जट लोशन का उपयोग कीजिए। कुछ मिनटों के बाद त्वचा के दाग धब्बों को कंसीलर से कवर करके अप्लाई कीजिए। फांउडेंशन का उचित चुनाव करते समय अगर आपकी त्वचा काफी साफ है तो हल्दी गुलाबी टोन वाले मटमैले रंगों का चयन करें।
यदि आपकी त्वचा का रंग साफ है, लेकिन पीला पड़ गया है तो गुलाबी टोन को छोड़कर मटमैले या बिस्किट रंग का चयन करें। सांवले रंग वाली महिलाओं के लिए भूरे मटमैले फाउंडेशन से बेहतर सौंदर्य प्राप्त कर सकती है।
आंखों की सुन्दरता के लिए आंखों की ऊपरी पलक पर हल्के भूरे प्रतिबिम्ब को लगाइए। क्रीम में गहराई के लिए गहरे भूरे आई शैडों का प्रयोग करें। आंखों को गहरे आई पेंसिल से सीमांकित करें। स्मज प्रभाव के लिए आंखों की ऊपरी परत पर गहरी आई शैडो भी अच्छा प्रभाव देती है। तीज के त्यौहार में ब्रोंज शैडो को ऊपरी परत पर आईलाईनर को लाईन करने के लिए आप गोल्ड सिल्वर तथा ब्रोंज शैडो का प्रयोग कर सकती हैं। सामान्य भारतीय रंग के लिए आप लिपस्टिक में मूंगियां, लाल, गहरे लाल रंग की शेड की लिपस्टिक का प्रयोग कर सकती हैं। गहरा गुलाबी रंग भी काफी जच सकता है। ज्यादातर त्वचा के रंगों में नारंगी शेड भी काफी सराही जाती है।
किसी भी भारतीय त्यौहार में बिन्दी सौंदर्य का अभिन्न अंग मानी जाती है। अपनी पोशाक से मिलती जुलती चमकती बिन्दी का जरूर प्रयोग करें। चमकीले रत्नों से जडि़त तथा चमकीले रंगेों से सुसज्जित बिन्दी काफी आर्कषक दिखती है।

Report

What do you think?

500 points
Upvote Downvote

Written by Shehnaz Husain

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

Comments

0 comments

योग को विश्व से परिचित करवाने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भूमिका अहम : वीरेंद्र कंवर

बनीखेत में आयकर विभाग ने लगाया शिविर